क्या है ,आप का स्वामी अंक? जाने अपना स्वामी अंक |

Please log in or register to like posts.
News

क्या है ,आप का स्वामी अंक? जाने अपना स्वामी अंक |

अंकशास्त्र विद्या ( Numerology) में अंकों का विशेष स्थान होता है। अंकशास्त्र में हर व्यक्ति का एक अंक मुख अंक होता है जिसे अंक स्वामी बोलते हैं और इसी अंक स्वामी के द्वारा आपके भाग्य का आंकलन किया जाता है। आपके करियर, व्यवसाय, नौकरी, प्रेम और आपके जीवन की हर छोटी व बड़ी बात को, यह आपका स्वामी अंक आपके लिए तय करता है। तो क्या आप जानते हैं अपना अंक स्वामी? या आप जानना चाहते हैं कि कैसे यह आप पर अपना प्रभाव डालता है?

 

1 आप का स्वामी अंक- आपके शुभ दिन : रविवार
आपके शुभ रत्न: लाल, पन्ना, चन्द्रकान्त तथा पीला-हरा रत्न

यह अंक के स्वामी सूर्य हैं और इस अंक में पैदा हुए व्यक्ति बहुत सच्चे, क्रियाशील, ऊर्जावान्, प्रेरणाशील, रचनात्मक व प्रतिभावान होते हैं। आप 21 जुलाई से 20 अगस्त के बीच, 21 नवम्बर से 20 दिसम्बर तथा 21 मार्च से 20 अप्रेल के बीच जन्मे व्यक्तियों की ओर प्राकृतिक रूप से आकर्षित होते हैं। इसके अलावा आप बुद्धिजीवियों की ओर भी बहुत शीघ्रता से आकर्षित हो जाते हैं। आपको अपना प्यार किसी यात्रा अथवा समूह में मिल सकता है। जहाँ तक धन की बात है, इस मामले में आप बहुत ही भाग्यशाली हैं। लेकिन आपको अधिक उदारवादी व खर्चीला होने से बचना चाहिए। आप में से कुछ तो जुए की बुरी आदत में भी फँस सकते हैं।सूर्य आपको बौद्धिक क्षमता प्रदान करता है, जिस कारण आप शारीरिक कार्यों के अपेक्षा मानसिक कार्यों को अधिक कुशलता से कर सकते हैं। आपकी नेतृत्व क्षमता भी अद्भुत है, इसलिए प्रशासनिक एवं आधिकारक पद आपको अधिक सफलता दे सकते हैं। आप बहुत साहसी तथा बहादुर हैं तथा मुश्किल से मुश्किल समस्या से निबटने का साहस रखते हैं। अवलोकन व यात्रा से आपके ज्ञान में विशेष वृद्धि होती है। आपकी बुद्दी बहुत स्पष्ट एवं रचनात्मक है, इसलिए आप दूसरों से आदेश लेना पसंद नहीं करते। आपमें से बहुत तो बहुत ही रचनात्मक होते हैं तथा कला में पारंगत होते हैं। आपमें से कुछ तो पराविज्ञान व अध्यात्म की ओर आकर्षित हो जाते हैं।

 

२ आप का स्वामी अंक – आपके शुभ दिन : सोमवार
आपके शुभ रत्न: मोती, हीरा, चन्द्रकान्त, गोमेद

यह अंक चन्द्रमा के स्वामित्व में आता है और इस अंक पर जन्मे व्यक्ति बहुत ही कल्पनाशील, आदर्शवादी तथा सपनों में खोए रहने वाले होते हैं। आप 21 अक्तूबर से 20 नवम्बर और 19 फरवरी से 20 मार्च के बीच जन्मे व्यक्तियों की ओर स्वभाविक रूप से आकर्षित रहते हैं। साथ ही आप 2, 4 व 6 अंक द्वारा शासित व्यक्तियों की ओर भी खिंच जाते हैं। आप बुद्धिजीवी तथा रचनात्मक व्यक्तियों की ओर भी आकर्षित होते हैं। आपको व्यापार व धन के मामले में औसत सफलता प्राप्त होती है। यदि आप अपनी कल्पनाशीलता का प्रयोग नए-नए प्रयोग करने में करेंगे तो आपकी आर्थिक स्थिति बहुत मजबूत हो सकती है।आप उदार, करूण व पूरी तरह से निश्छल हैं तथा हमेशा दूसरों का और उनकी भावनाओं का पूरा ख्याल रखते हैं। आप चीजों को बड़े ध्यान से देखते व परखते हैं। आपको सलीका व सफाई पसंद है। आपको जिन लोगों का साथ पसंद नहीं आता आप उनके साथ रहने की बजाए अकेले रहना पसंद करते हैं। आपको प्राकृतिक एवं सुंदर चीजें ही पसंद आती हैं और आप को एक साधारण सी वस्तु में से भी आनंद प्राप्त हो जाता है। कहीं दूसरे आपके इस अच्छे व सीधे स्वभाव का फायदा ना उठाएँ, अतः ऐसे लोगों से सावधान रहें।

३ आप का स्वामी अंक – आपके शुभ दिन : मंगलवार
आपके शुभ रत्न: पुखराज, जंबुमणी व लहसुनिया

इस अंक के स्वामी बृहस्पति हैं और वे इन्हें आदर्शवादी, न्यायशील, दयालु व विशुद्ध प्रेमी बनाते हैं। आप 21 जून से 20 जूलाई तथा 21 अक्तूबर से 20 नवम्बर के मध्य जन्मे व्यक्तियों की ओर स्वभाविक रूप से आकर्षित होते हैं। अंक 3, 6, 7 व 9 द्वारा शासित व्यक्तियों से भी आप बेहद निकट रहते हैं। आप धन के मामले में बहुत ही भाग्यशाली रहेंगे और आपको अपने कैरियर को बुलंदियों तक ले जाने के लिए भी बहुत से अवसर मिलेंगे। आपकी महत्वकाँक्षा, नेतृत्वक्षमता और लगन आपको हमेशा ही अपने व्यवसायिक जीवन में बढ़ोतरी करने के लिए प्रेरित करती रहती है।आप समान्यतः जीवन में भाग्यशाली ही रहते हैं। आपको जो पसंद है, आप उसे हासिल कर ही लेते हैं। उदार न्यायाधीश, चिकित्सक, पुजारी, अध्यापक, दार्शनिक व मानववादी अधिकत्तर अंक 3 द्वारा ही शासित होते हैं। आपका वास्ता अधिकत्तर जनता से ही पड़ता है और आप हमेशा उनकी आँखों में रहते हैं। पैनी बुद्धि व सहज आकर्षण के कारण आपके बहुत से मित्र होते हैं। आप परिस्थितियों में ढलने वाले एवं बहुमुखी प्रतिभा के मालिक हैं तथा अपने कैरियर विकल्प के बारे में थोड़ी उलझन में भी पड़ जाते हैं। आप सभी के साथ बहुत विनम्रता से पेश आते हैं। आप आत्मविश्वास से भरपूर हैं तथा आत्मनिर्भर रहना पसंद करते हैं। आप स्वतंत्र विचारक व सहनशील हैं।

 

4 आप का स्वामी अंक -आपके शुभ दिन : रविवार
आपके शुभ रत्न: पुखराज, जंबुमणी व लहसुनिया

यह अंक यूरेनस ग्रह द्वारा शासित है और इस अंक पर जन्मे व्यक्ति ऊर्जावान्, बलशाली व प्रगतिशील होते हैं। आप फरवरी 19 से मार्च 20 तथा 21 अक्तूबर से 20 नवम्बर के बीच जन्मे लोगों की ओर प्राकृतिक रूप से आकर्षित होते हैं। इसी प्रकार आप 1, 2, 4, 7 व 8 अंक द्वारा शासित व्यक्तियों की निकटता पसंद करते हैं। आप की वित्तीय स्थिति बहुत अच्छी रहती है और आपको भौतिक वस्तुओं की कम ही लालसा होती है। यधपि आप कम खर्चीले होते हैं, लेकिन आपका घर बहुत ही शानदार तरीके से सजा रहता है। आप को अच्छी सफलता 40 वर्ष की उम्र के बाद ही मिल पाती है।आपके जीवन में क्राँतिकारी व अप्रत्याशित बदलाव आते ही रहते हैं और अधिकत्तर ये बदलाव आपके अच्छे के लिए ही होते हैं। आप मानव जीवन व समाज की भलाई के लिए काम करना पसंद करते हैं। आपको दिखावा व चापलूसी पसंद नहीं व आप कला व संगीत के दीवाने हैं। कई बार आपको अधिक बेहतर करने के लिए प्रेरणा की आवश्यकता पड़ती है। आप कबूल करने का साहस रखते हैं तथा हमेशा अपनी बुद्धी से काम करते हैं। आपका जीवन बहुत व्यस्त रहता है। आप भरोसे के लायक़ हैं और आपका समाज में बहुत नाम व सम्मान होता है।

5 आप का स्वामी अंक – आपके शुभ दिन : बुधवार
आपके शुभ रत्न: हीरा, पन्ना और नीलम

इस अंक पर जन्मे व्यक्तियों पर मंगल ग्रह शासन करता है और ये लोग अधिकत्तर बहुत चालाक, सचेत, उधमी, कूटनीतिक व अन्तर्तज्ञानी होते हैं। आपकी व्यापार व वैज्ञानिक विषयों पर अच्छी पकड़ होती है। आप 21 सितम्बर से 20 अक्तूबर और 21 जनवरी से 20 फरवरी के दौरान पैदा हुए व्यक्तियों से बहुत प्रभावित रहते हैं। अंक 1, 5, 7 और 8 द्वारा शासित व्यक्तियों की ओर भी आप आकर्षित रहते हैं। क्योंकि अंक 5 व्यापार से संबंधित है, इसलिए आपको धन-संबंधी मामलों में बहुत सफलता मिलनी चाहिए। आप चतुर व उधमी हैं, इसलिए आपको अपनी कैरियर मे अवश्य ही सफल रहना चाहिए।आप मानसिक व शारीरिक दोनों तौर पर बहुत क्रियाशील व तेज हैं। आप एक अच्छे वक्ता हैं और अपनी भावनाओं व विचारों को सही प्रकार से अभिव्यक्त कर सकते हैं। आप स्वतः अभिप्रेरित हैं तथा अपनी योजनाओं को तार्किक निष्कर्श तक पहूँचाने की क्षमता रखते हैं। आप अपने घरेलू जीवन में बहुत खुश रहते हैं तथा अपने बच्चों का बहुत ख्याल रखते हैं। आप जो भी करते हैं वह गति, कुशलता व दृढ़ता का प्रतीक होती है। आपको सदा ही यात्रा करना व बदलाव पसंद है। जीवन के प्रति आपका नजरिया बहुत ही विस्तृत एवं सहिष्णु है और आप हमेशा मित्रभाव में विश्वास रखते हैं। आप हमेशा जरूरतमंदों की मदद के लिए तत्पर रहते हैं।

6 आप का स्वामी अंक- आपके शुभ दिन : सोमवार
आपके शुभ रत्न: पीरोजा, पन्ना, मोती और हीरा

यह अंक शुक्र ग्रह द्वारा संचालित है, जिसका अर्थ है, प्रेम, हमदर्दी व करूणा। यह अंक रचनात्मकता, कला व सुंदरता का भी प्रतीक है। आप अगस्त 21 से सितंबर 20 व दिसम्बर 21 से जनवरी के मध्य जन्मे व्यक्तियों के बहुत ही करीब रहते हैं। साथ ही अंक 2, 3, 6 व 9 के द्वारा शासित व्यक्तियों से भी आपकी घनिष्ठता रहती है। हालांकि आप धन-संचय पर अधिक ध्यान नहीं देते हैं और सुदृढ़ आर्थिक स्थिति बना कर रखते हैं, लेकिन फिर भी आप बहुत खर्चा करते हैं।आप एक पैदायशी कलाकार हैं तथा सभी तरह की सुंदर व सलोनी वस्तुओं की ओर आकर्षित रहते हैं। आपका व्यक्तित्व बहुत खुशमिजाज है और आप सदा ही ऊर्जा, उमंग व आकर्षण से परिपूर्ण रहते हैं। आपकी बातचीत बहुत ही रोचक एवं कर्णप्रिय होती है और आप बहुत समझदार होते हैं। आप एक बहुत ही करूण व्यक्ति हैं जो कि इंसानियत व करूणा को बहुत महत्व देता है। अपने मित्रों के प्रति भी आप बहुत ईमानदार होते हैं। आप अपने परिवार से जुड़े रहते हैं और उनकी हर जरूरत का ख्याल रखते हैं।

 

7 आप का स्वामी अंक-आपके शुभ दिन : रविवार
आपके शुभ रत्न: पुखराज, पन्ना, चन्द्रकान्त और लहसुनिया

यह अंक नैपच्यून ग्रह द्वारा शासित होता है, जिसका अर्थ है कि इस अंक वाले व्यक्ति बहुत कल्पनाशील, आदर्शवादी, व सपनों में खोए रहने वाले होते हैं। आप 21 अक्तूबर से 20 नवम्बर व 19 फरवरी से 20 मार्च के मध्य जन्मे व्यक्तियों की ओर बहुत आकर्षित होते हैं। इसी तरह आप अंक 1,3, 4, 5 7 और 8 द्वारा संचालित व्यक्तियों से भी प्रभावित होते हैं। क्योंकि आप जीवन के भौतिक पहलू की ओर अधिक ध्यान नहीं देते इसलिए आप बहुत अधिक धन संचय नहीं कर पाते, लेकिन यहाँ कुछ अपवाद भी हैं और एक सौदागर, निर्यातक, इंजीनियर, डाक्टर आदि के रूप में आप बहुत सफल रह सकते हैं।

आप एक बहुत ही व्यक्तगत व स्वतंत्र प्रवृति के इंसान हैं। आप स्वभाव से उत्तेजक व बदलाव के लिए प्रयासरत्त व्यक्ति हैं। आप यात्रा के बहुत शौकीन हैं और सदा ही नए व भिन्न-भिन्न स्थानों में जाने के लिए तत्पर रहते हैं। आप बहुत ही नियमपसंद व तार्किक व्यक्ति हैं। आप व्यापार में बहुत कुशल होते हैं और इसलिए अच्छी आय अर्जित करते हैं। 7 अंक अध्यात्म से विशेष रूप से जुड़ा है, इसलिए आप अध्यात्मिकता की ओर बहुत आकर्षित रहते हैं। आप स्पष्टवक्ता व निसंकोची हैं और स्वतंत्र रहकर काम करना आपकी विशेषता है। आप स्वभाविक खुशमिजाज, ऊर्जावान् व आशावादी व्यक्ति हैं लेकिन आपको अपने गुस्से पर काबू रखना होगा।

8 आप का स्वामी अंक- आपके शुभ दिन : बुधवार
आपके शुभ रत्न: नीलम, काला मोती, हीरा, लहसुनिया और जम्बुमणी

 

यह अंक शनि ग्रह द्वारा संचालित है, जिसका अर्थ है कि आप में अनुशासन, फुर्ती, लगन व कर्तव्य का आश्चर्यजनक बोध है। आप स्वभाविक रूप से अप्रैल 21 से मई 20 व अगस्त 21 से सितम्बर 20 के बीच जन्मे व्यक्तियों की ओर आकर्षित होते हैं। वैसे ही आप अंक 4, 5, 7 व 8 के द्वारा शासित व्यक्तियों की ओर भी खिंचे चले जाते हैं। यधपि आपको सफलता कुछ देरी से मिलती है, लेकिन आप को धन की कमी कभी नहीं होती। आप सरकार, खनन, कृषि वानिकी एवं निर्माण उधोगों में बहुत अच्छा काम कर सकते हैं।आप एक सुशील व शांत स्वभाव के व्यक्ति हैं और आप अपनी पसंद के मामले में बहुत संकुचित रहते हैं, इसलिए कई बार आप निराशा का अनुभव भी करते हैं। आप बहुत व्यवहारिक किस्म के इंसान हैं और अपनी न्यायशीलता व उदारता के लिए जाने जाते हैं। आप एक जन्मजात प्रबंधक हैं तथा दूसरें से काम निकालना जानते हैं। आप सदा ही बिना किसी संकोच के लोगों की मदद करने हैं। आप अधिकाँश अधिकार व जिम्मेदारी वाले पदों पर ही रहते हैं। आपको ख्याल रखना पड़ेगा कि कोई आप पर अनावश्यक बोझ ना डाल दे। कई बार आप निरुत्साहित हो जाते हैं और सोचने लग जाते हैं कि क्या जीवन जीने के लायक़ भी है और ऐसे समय पर आप दूसरों से कटना शुरू कर देते हैं।

9 आप का स्वामी अंक- आपके शुभ दिन : सोमवार
आपके शुभ रत्न: पुखराज, लाल, सुर्ख पत्थर और रक्त मणी

यह अंक मंगल ग्रह द्बारा शासित है, जो इसे आक्रामक, साहसी, प्रभावशाली व फुर्तीला बनाता है। आप जुलाई 21 से अगस्त 20 व नवम्बर 21 से दिसम्बर 20 के बीच जन्मे व्यक्तियों से ख़ासे प्रभावित रहते हैं। जहाँ तक कैरियर व आर्धिक स्थिति की बात है, आप बहुत भाग्यशील हैं तथा एक औसत व्यक्ति से अधिक ही कमा लेते हैं। क्योंकि आप को फ़िजूलख़र्ची की बहुत बुरी आदत है तो इस मामले में थोड़ा संभल कर ही रहें। कहीं ऐसा ना हो कि आमदनी अठन्नी, खर्चा रूपय्या।आप बहुत बड़े योद्धा हैं और इतने आक्रामक हैं कि जब तक लक्ष्य ना मिले तब तक आप रुकते ही नहीं हैं। आपका बहुत ही गुस्सैल स्वभाव और एक प्रभावशाली व्यक्तित्व है। आप तेज व चेतना से भरपूर हैं। आप साहसी हैं और वाद-विवाद में कभी अपनी पीठ नहीं दिखाते हैं। आप अपने दोस्तों की ओर बहुत समर्पित रहते हैं और उनकी मदद करने के लिए किसी भी हद तर जा सकते हैं। आप कमजोर वर्ग से हमदर्दी रखते हैं। यधपि आप अच्छी भावना से काम करते हैं, लेकिन चालाकी व कोमलता की कमी के कारण आप को गलत समझ लिया जाता है। रिश्तेदारों व दोस्तों के साथ आपको विनम्र रहना चाहिए।

 

 

 

 

 

 

Reactions

Nobody liked ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *