चाणक्य नीति : चाणक्य ने बताया ये ४ बाते हमेसा गुप्त रखे नहीं तो आप को पूरी ज़िंदगी भारी मुसीबत झेलनी पड़ेगी |

Please log in or register to like posts.
News

चाणक्य नीति : चाणक्य ने बताया ये ४ बाते हमेसा गुप्त रखे नहीं तो आप को पूरी ज़िंदगी भारी मुसीबत झेलनी पड़ेगी |

चाणक्य ने बताया की हमारी जिंदगी की कई ऐसी निजी बाते होती है जो हमेशा हमें दुसरो से गुप्त रखनी चाहिए। अगर हम इन बातो को किसी के भी सामने सार्वजानिक करते है तो हम खुद अपने लिए भविष्य में परेशानियां पैदा करने के लिए रास्ता बना देते है। (keep secret these 4 things) आज हम आपको ऐसी 4 खास बाते बताएँगे जो आपको कभी भी किसी भी सूरत में किसी के भी साथ साझा नहीं करनी चाहिए। आइये जानते है….

अपना अपमान
अगर हमें ज़िन्दगी में कभी भी घोर अपमान का सामना करना पड़े तो हमें यह बात हमेशा दुसरो से गुप्त रखनी चाहिए। अगर हम अपने घोर अपमान वाली बात को दुसरो से साझा करेंगे तो हमें देर सवेर इस से और ज्यादा अपमान झेलना ही पड़ेगा। इस लिए सदैव अपने अपमान की बात किसी के साथ साझा नहीं करनी चाहिए। अगर आप ऐसी कोई भी बात किसी के साथ साझा करते हो तो आप भविष्य के लिए अपने लिए और अपमान की स्थिति पैदा कर रहे हो और लोग आपके ही कारन आपका मजाक बना सकते है।

धन की हानि
ज़माना बदलने के साथ ही आजकल व्यक्ति की शक्ति का पैमाना शारीरिक शकी नहीं बल्कि पैसे को माना को जाता है। जिसके पास जितना ज्यादा पैसा होता है उसी को उतना ज्यादा ही रोब-रुतबा रहता है। आपने गौर किया होगा शादी के रिश्ते जुड़ते वक्त भी दूल्हे के पास दूल्हे के परिवार के पास कितना पैसा है इसको काफी महत्त्व दिया जाता है। अगर पैसा अधिक रहता है तो सगे-सम्बन्धियो से लेकर मित्र तक सब आपको तवज्जो देते है।

इसलिए माना गया है की अगर आपको किसी भी प्रकार की धन हानि होती है तो यह बात कभी भी दुसरो को नहीं बतानी चाहिए। अगर आप अपने धन की हानि की बात को जितना ज्यादा लोगो को बताएँगे उतना ही ज्यादा आपके मित्रो से लेकर आपके सगे-संबंधी आपका मजाक बनाएंगे और आपसे धीरे धीरे दूर होते जायेंगे। और तो और अगर आप किसी को भी यह बताकर की “आपको धन का नुक्सान हुआ है” किसी से कोई भी मदद मांगेंगे तो आपको मदद मिलनी काफी मुश्किल रहेगी। इस लिए कभी भी किसी को भी अपने धन की हानि का मत बताइये।

घर के झगड़े
दुनिया में शायद ही कोई ऐसा परिवार होगा जिसमे छोटी-मोटी नोक-झोक से लेकर लड़ाई-झगड़ा ना हुआ हो। ऐसे झगडे आमतौर पर हर परिवार में होते है इसका मतलब यह नहीं की आप अपने घर में हुए झगडे की बात बाहर अपने दोस्तों और रिश्तेदारो को बताने लग जाये। घर के लड़ाई झगडे अपने दोस्तों और रिश्तेदारो के आगे सार्वजानिक करने से आपको ही परेशानी झेलनी पड़ती है। कुछ समय बाद जब आपके परिवार का माहौल ठीक होता है तो वो ही रिश्तेदार और दोस्त आपके आपके परिवार का पीठ पीछे मजाक बनाते है। इस लिए कभी भी भूल कर भी अपने परिवार के झगडे की बात किसी के भी साथ साझा नहीं करनी चाहिए।

रतिक्रिया
स्त्री और पुरुष को हमेशा ही रतिक्रिया के दौरान एकांत का पूरा-पूरा ध्यान रखना काफी जरुरी होता है। इस से जुडी बाते हमेशा ही गुप्त रखनी चाहिए। किसी भी पुरुष या स्त्री को किसी भी अपने करीबी से करीबी दोस्त को इस क्रिया से जुडी हुई बाते कभी भी नहीं बतानी चाहिए। अगर आप ऐसी कोई बात अपने दोस्तों को बताते हो तो ये आपके लिए अच्छी बात साबित नहीं होती बल्कि इससे आपके चरित्र और सामाजिक जीवन पर गलत प्रभाव पड़ने की हमेशा ही आशंका बनी रहती है। इसलिए कभी भी रतिक्रिया से जुडी अपनी खास बाते किसी केभी साथ साझा ना करे बेशक वो आपको कितनी ही करीबी मित्र क्यों ना हो

Reactions

Nobody liked ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *