शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण और उसके सरल और घरेलू उपाय

Please log in or register to like posts.
News

शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण और उसके सरल और घरेलू उपाय

शरीर में यूरिक एसिड प्‍यूरिन के टूटने से बनता है. जब हमारे शरीर के सेल्स टूटते हैं, और नवनिर्मित होते हैं तो इनमे पाया जाने वाला प्यूरीन भी टूटता हैं. प्यूरीन के टूटने पर केमिकल रिएक्शन होता हैं जिस से यूरिक एसिड बनता हैं. यह ब्‍लड के माध्‍यम से बहता हुआ किडनी तक पहुंचता है, और यूरीन के रूप में शरीर के बाहर निकल जाता है. शरीर में यूरिक एसिड बढ़ जाए तो ये हमारे टेंडन में, जोड़ो में, किडनी में, और शरीर के अन्य भागो में संचित होते रहते हैं, जो आगे चल कर जोड़ो के दर्द, वातरोग, गठिया, संधिवात को जन्म देते हैं.
अगर सही समय पर यूरिक एसिड का उपचार और उपाय ना किया जाए तो इस रोग से प्रभावित व्यक्ति के उठने बैठने और चलने फिरने में परेशानी आने लगती है. इसका स्तर बढ़ने पर गठिया होने का ख़तरा बढ़ जाता है. यहाँ कुछ आयुर्वेदिक दवा और देसी नुस्खे से हाई यूरिक एसिड का घरेलू इलाज कर सकते है और गाउट दर्द से छुटकारा पा सकते है.(How to control uric-acid)

यूरिक एसिड क्यों बढ़ता है (What Are The Symptoms Of High Uric): शरीर में प्यूरिन के टूटने के कारण यूरिक एसिड बनता है, जो किड्नी तक खून से पहुँचता है और मूत्र मार्ग से शरीर से बाहर निकल जाता है. किसी वजह से जब ये बाहर नहीं निकलता तब ये शरीर के अंदर इकठ्ठा होने लगता है और एक क्रिस्टल की तरह बन जाता है और जब यूरिक एसिड का स्तरअधिक हो जाता है तब ये परेशानी करने लगता है.

यूरिक एसिड के लक्षण (symptoms of uric acid growing in the body) : इस रोग के बारे में ज्यादातर लोगों को जादा कुछ पता नहीं होता. अक्सर हम शुरुआती लक्षण देख कर बीमारी का आइडिया लगा लेते है, जैसे पैरों के अंगूठे में सूजन पड़ना, जोडों में दर्द और सूजन होना, उठते बैठते वक़्त घुटने में दर्द,जोड़ों में गाँठ की शिकायत होना.

यूरिक एसिड कम करने के उपाय और घरेलू उपाय (control uric acid): दो से तीन अखरोट रोजाना खाली पेट खाने से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कम होने लगता है. एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर एक गिलास हल्के गरम दूध के साथ पिए.गर्मियो में अश्वगंधा कम मात्रा में ले. एक चम्मच अलसी के बीज भोजन के आधा घंटे बाद चबा कर खाने से भी आराम मिलता है. हाई यूरिक एसिड होने पर ये शरीर में क्रिस्टल जैसा बन जाता है, और शरीर में दूसरे अंगों में जमा होने लगता है. चम्मच बेकिंग सोडा एक गिलास पानी में मिलाकर पिए इससे क्रिस्टल टूट कर शरीर में घुल जाते है और पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाते है. आंवले का रस एलोवेरा जूस में मिलाकर पीने से भी फायदा मिलता है. यूरिक एसिड बढ़ जाने पर अगर गठिया हो गया है तो बथुए के पत्तों का जूस निकाल कर सुबह खाली पेट पिए और इसके दो घंटे बाद तक कुछ ना खाए पिए.

Reactions

Nobody liked ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.