भारत का ऐक ऐसा मंदिर जहां भगवान खुद करते है मौसम की भविष्यवाणी!

Please log in or register to like posts.
News

इस दुनिया में बहुत सारे ऐसे मंदिर, स्मारक है जिनके बारे में सुनकर आश्चर्य होता है। लेकिन कुछ अजीब सी चीजें ऐसी भी होती है जिन पर एकबारगी तो यकीन ही नहीं होता है। भारत देश एक धर्म प्रधान देश है। यहां लोगों में भगवान के प्रति अटूट विश्वास है। कोटा के पूर्व राजपरिवार के निवास स्थल गढ़ पैेलेस में बृजनाथ जी का मंदिर में कोटा के लोगों की अगाध श्रद्धा है। सिर्फ इसलिए नहीं कि यहां ठाकुर जी की सेवा राजपरिवार खुद करता है।
हर साल इस मंदिर में बरसात से लेकर फसलों की भविष्यवाणी की जाती रही है। इतना ही नहीं किस फसल की पैदावार अच्छी होगी और कौन सी फसल कमजोर रहेगी यह भी यहां पहले से ही पता चल जाता है। आचार्य के अनुसार आषाढ़ी पूर्णिमा पर शाम को सूर्यास्त के बाद शयन आरती के बाद प्रमुख तिल, मक्का, ज्वार, धनिया, सोयाबीन, मूंग, उड़द, चावल, मूंगफली व चवला आदि को निश्चित मात्रा में लेकर मंदिर में सफेद कपड़े से ढक कर रख दिया जाता है।
अगले दिन मंगला आरती के बाद इनकी दौबारा माप-तोल की जाती है। लोगों की आस्था है कि दूसरे दिन जब भगवान की कृपा से इनकी माप-तोल की जाती है तो इनमें घटत-बढ़त होती है। माना जाता है कि जिस अनाज में तोल में कमी आती है उसकी फसल कम, जिसमें वृद्धि होती है उसकी फसल अच्छी और जिसका वजन वहीं रहता है, उस फसल की पैदावर न ज्यादा होती है न कम।

Reactions

Nobody liked ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *