तुलसी का पौधा बता देगा, आप पर कोई मुसीबत आने वाली है (jyotish gyan)

Please log in or register to like posts.
News
jyotish upay

about tulasi plant in hindi.
क्या आपने कभी ध्यान दिया है ,की आप के घर ,परिवार या आप पे कोई मुसीबत आने वाली होती है तो उसका असर सबसे पहले आप के घर में स्थित तुलसी के पौधे पर होता है। आप उसका कितना भी ध्यान रखे धीरे धीरे वो सुखने लगता है। तुलसी का पौधा ऐसा है ,जो आप को पहले ही बता देता है ,की आप के घर परिवार या आप पे कोई मुसीबत आने वाली है।
पुराणो और शास्त्रो के अनुसार की बात की जाये तो ऐसा इस लिए होता है, की जिस घर में मुसीबत आने वाली होती है उस घर से लक्ष्मी यानि तुलसी चली जाती है। क्योकि द्ररिदता ,कलेस या अशांति जहाँ होती है वहां लक्ष्मी जी का निवास नहीं होता।
अगर ज्योतिष शास्त्र को माने तो ऐसा बुध ग्रह के कारण होता है। बुध का प्रभाव हमेशा हरे रंग पर होता है ,बुध को पेड़ पौधो का करक ग्रह मन जाता है।
बुध ऐसा ग्रह है ,जो अन्य ग्रहो का शुभ और अशुभ प्रभाव जातक (लोगो ) तक पहुँचता है।
अगर कोई ग्रह अशुभ फल देगा तो उसका अशुभ प्रभाव बुध के कारक वस्तुओ पर भी होता है ,जिस से तुलसी का पौधा सूखने लगता है। ये आप को ग्रहो के अशुभ प्रभाव की तरफ इसारा करता है।
अगर कोइ ग्रह शुभ प्रभाव देता है ,तो उसके शुभ प्रभाव के कारण तुलसी का पौधा बड़ा होने लगता है ,उसमे फूल और फल लगने लगते है।

तुलसी के पतों से लाभ (benefits of tulsi leaves in hindi)
प्रतिदिन ५ पत्ती तुलसी की खली पेट खाने से ,मधुमेह ,रक्त विकार ,वात ,पित्त आदि बीमारियां दूर होने लगती है। benefits of tulsi leaf in hindi ,माँ तुलसी के समीप आसन लगा कर प्रति दिन कुछ समय के लिए बैठा जाये तो ,उससे श्वास के रोग और अस्थमा की बीमारी से आराम मिलता है।
घर में तुलसी का पौधा एक वैध के सामान होता है ,साथ ही ये वास्तु दोष को भी दूर करता है ,शास्त्रों मई तुलसी के गुण भरे पड़े है ,ये जन्म से मृत्यु तक काम आती है।
तुलसी के गुणों को आधुनिक रसायन शास्त्र भी मानता है ,इसकी हवा तथा स्पर्श एवम इसका भोग दीर्घ आयु बनाता है। विशेष रूप से वाता वरण को सुध बनता है।
शास्त्रों के अनुसार तुलसी के विभिन प्रकार के पौधे होते है , उनमे कृष्ण तुलसी ,लक्ष्मी तुलसी ,राम तुलसी ,भू तुलसी ,राम तुलसी ,निल तुलसी ,रक्त तुलसी ,वन तुलसी ,ज्ञान तुलसी मुख्य है। इन सबके गुण अलग अलग है। ये नाक ,कान ,कफ, ज्वर ,खांसी और दिल की बीमारियों को ठीक करने में मदद करती है।

वास्तु दोष के अनुसार क्या करे (disha vastu shastra)
तुलसी का गमला रसोई के पास रखने से परिवारिक कलेश नहीं होता ,ghar ka vastu पूर्व दिशा की खिड़की के पास की खिड़की के पास रखने से ,पुत्र अगर जिद्दी हो तो उसका हठ दूर होता है। यदि कोई सन्तान अपनी मर्यादा से बहार है या नियंत्रण से बहार है ,तो उसे पूर्व दिशा मे रखी हुई तुलसी के ३ पत्ते खिलने से वो आज्ञानुसार काम करता है।
कन्या के विवाह मे अगर विलम्ब हो रहा हो तो ,तो तुलसी के पौधे को अग्निय कोण agneya disha में रखे। कन्या उसमे रोज स्नान कर के जल अर्पित करे ,और उसकी एक परिक्रमा लगये। इससे विवाह जल्दी और अनुकूल स्थान पे होता है ,और सारी बाधा दूर होती है।
यदि व्यापर ठीक न चल रहा हो तो ,दक्षिण – पश्चिम में तुलसी का गमला रखे ,और हर शुक्रवार को उसमे कच्चा दूध चढ़ाये और मिठाई का भोग लगाए। किसी सुहागिन स्त्री को मीठी वस्तु देने से व्यापर में उनती होती है।

jyotish gyan | jyotish upay | jyotish upay in hindi |about tulasi plant in hindi | benefits of tulsi leaf in hindi |benefits of tulsi leaves in hindi

Reactions

Nobody liked ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *